देश-विदेशबड़ी खबरें

ब्राज़ील के 200 साल पुरने म्यूज़ियम में लगी आग जानिए काया है पूरा मामला

ब्राज़ील के एक 200 वर्ष पुराने संग्रहालय में लगी भीषण आग में जलकर सब कुछ राख

देश-विदेश(ब्राज़ील )- ब्राज़ील के एक 200 वर्ष पुराने संग्रहालय में लगी भीषण आग में जलकर सब कुछ राख हो गई यह संग्रहालय नेचुरल हिस्ट्री में लैटिन अमेरिका का सबसे बड़ा संग्रहालय है |इस संग्रहालय में विभिन्न विषयों के अध्यन के लिए जैसे मानवसश्त्र , जियोलॉजी और अन्य विषय के बहुमूल्य 2 करोड़ से भी ज्यादा की चीजे राखी हुई थी |इस संग्रहालय ने अभी 6 जून को अपना 200 साल पूरा किया था |

ब्राज़ील के 200 साल पुरने म्यूज़ियम में लगी आग जानिए काया है पूरा मामला

 

इस संग्रहालय के बारे मे  –

  1. इस संग्रहालय  का निर्माण 6 जून 1918 में किया गया था |
  2. यह संग्रहालय पहले एक सही महल था |पुर्तगाली शासक जॉन ने इसे सही संग्रहालय घोषित किया था |
  3. इस संग्रहालय में लगभग 4.7 लाख पुस्तके तथा 2500 से ज्यादा अति दुर्लभ दस्तावेज़ रखे थे |
  4. इस संग्रहालय को देखने देश-विदेश से 2 -3 लाख सैलानी प्रतिवर्ष यंहा आते थे |
  5. ब्राज़ील के 200 साल पुरने म्यूज़ियम में लगी आग जानिए काया है पूरा मामला

“Know the fire in Brazil’s 200-year-old museum”

 

इस संग्रहालय की अपनी विशेष पहचान थी जिनमे कुछ महतवपूर्ण चीजे राखी गई थी-

  1. 5.36 टन भारी एक उल्का पिंड रखा गया था
  2. एक महिला का लगभग 12000 साल पूर्ण कंकाल रखा गया था जो की लैटिन अमेरिका से मिला था |
  3. कोलंबियन युग से पहले की मने जाने वाली लगभग (750 इसा पूर्व )की ममीजिसे एड़ीन स्केल्टन कहा जाता है |

इस घटना पर मन जा रहा है की 200 से भी अधिक वर्षो के खोज व वभिन्न विषय संबंधित तथ्य आग में जलकर नस्ट हो चुके है |राष्ट्रपति माइकल टेमर ने इसे ब्राज़ील के लिए दुखद दिन कहा है |

इस हादसे में अभी तक किसी के हताहत होने की अधिकारिक घोषणा नही की गई है विभिन्न विभागों के बचाव कर्मी एतिहासिक तथा सांस्कृतिक विरासत को बचाने में जुट गए है |अभी तक होने वाले कुल नुकसान को अंका नही जा सका है |“ब्राज़ील के 200 साल पुरने म्यूज़ियम में लगी आग जानिए काया है पूरा मामला”

आगे और पढ़े

CGkesari Staff

छत्तीसगढ़ समाचार-Trending Chhattisgarh News:दिन भर की बड़ी खबरें,Chhattisgarh News - Latest Hindi News & Updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate Here »
Close